सोलन स्थित Shoolini University ने दो महत्त्वपूर्ण पेटेन्ट दाखिल किए

सोलन, भारत, August 7, 2017 /PRNewswire/ --

भारत के अग्रणी अनुसंधान-आधारित विश्वविद्यालय ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में दो नए पेटेन्ट दाखिल किए 

देश में एक अग्रणी शोध केंद्र, Shoolini University of Biotechnology and Management Sciences ने हाल ही में दो महत्त्वपूर्ण शोध पेटेन्ट दाखिल किए हैं। विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में गहन शोध करने वाले सोलन स्थित इस विश्वविद्यालय ने अब तक 58 पेटेन्ट दाखिल किए हैं। हाल ही में दाखिल दो नए पेटेन्ट में नं. 45 'एफिशिएंट मोबाइल कवर' और नं. 46 'मशीन फॉर कैलकुलेटिंग कटिंग फोर्स' शामिल हैं। ये पेटेन्ट विश्वविद्यालय के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग द्वारा दाखिल किए गए हैं।

     (Photo: http://mma.prnewswire.com/media/542246/Cutting_Force_Measuring_Machine_Front_View__Shoolini_University.jpg )
     (Photo: http://mma.prnewswire.com/media/528190/Shoolini_University_Campus.jpg )
इस वर्ष आरंभ में भारत सरकार के बौद्धिक संपदा विभाग ने 2015-2016 की अपनी वार्षिक रिपोर्ट में Shoolini University को 10 शीर्ष पेटेन्ट दाखिल करने वाले भारतीय विश्वविद्यालयों और संस्थानों में शामिल किया है। Shoolini University शोध-प्रेरित मॉडल का अनुसरण करती है, जो 85 से अधिक विज्ञान प्रयोगशालाओं और लगभग 200 एमफिल और पीएचडी अध्येताओं द्वारा समर्थित है। इस वर्ष दाखिल किए गए कुछ अन्य पेटेन्टों में निम्न शामिल हैं:

  • नई औषधि का विकास
  • औद्योगिक एंज़ाइम
  • जल शोधन और पर्यावरण उपचार
  • प्रतिरक्षा अनुप्रयोगों के लिए एंटीना का लघुकरण
  • संवर्धित जैव सक्रियता वाले नए बेंज़ोथियाज़ोल डेरिवेटिव
  • एक फ्लाइंग चेयर का डिज़ाइन

मशीन फॉर कैलकुलेटिंग कटिंग फोर्स का विकास विश्वविद्यालय के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग द्वारा किया गया है। कटिंग फोर्स, किसी मशीन टूल द्वारा वर्क मैटैरियल काटने के लिए प्रयुक्त बल की न्यूनतम मात्रा होती है। कटिंग टूल विकसित करने के दौरान विचार करने के लिए यह एक महत्त्वपूर्ण मापदंड है। आमतौर से, वर्क मैटेरियल को काटने के लिए उच्चकोटि के पिज़ोइलेक्ट्रिक सेंसरों का उपयोग आवश्यक होता है। यह मशीन किफायती भी साबित होगी। कुछ शोधकर्ताओं ने छोटे पैमाने के उद्योगों में उपयोग के लिए समान किफायती वैकल्पिक विधियां भी विकसित की हैं।

Shoolini University के मैकेनिकल इंजीनियरों ने कटिंग फोर्स मापने के लिए पारंपरिक रूप से व्यय होने वाली ऊर्जा का उपयोग करते हुए एक ऐसी ही विधि विकसित करने का प्रयास किया। उन्होंने गणितीय संबंधों का प्रयोग किया और कटिंग प्रक्रिया के दौरान उपयोग की गई शक्ति में बदलाव की माप के लिए लकड़ी के कटिंग फोर्स की गणना की। इस कटिंग फोर्स से एक सीएनसी मशीन को डिजाइन करने में मदद मिली। कटिंग फोर्स मापन मशीन का आविष्कार Sashank Thapa द्वारा किया गया है।

मोबाइल फोन को गर्म होने से बचाने के लिए कूलिंग पैड विकसित करने के बारे में सोचा गया। मोबाइल फोन अधिक गर्म हो जाने के कारण मोबाइल उपयोक्ताओं पर हानिकारक व नुकसानदेह असर पड़ते हैं। पहले ऐसे कई मामले देखे गए हैं जिनमें मोबाइल फोन अत्यधिक गर्म हो जाने के कारण फट गए जिससे उपयोक्ताओं को काफी चोटें पहुंचीं।

Shoolini के Sorabh Aggarwal द्वारा आविष्कृत कूलिंग पैड फॉर मोबाइल कवर ऐसी ओवरहीटिंग से बचाव के लिए है। यह पैड फोन की अधिक गर्मी को बाहर निकालते हुए मोबाइल का तापमान अत्यधिक बढ़ने से बचाता है। इस कूलिंग पैड में एक या अधिक यूएसबी फैन लगे होते है, जो मोबाइल की बैटरी से चलते हैं। एक रोचक बात यह है कि इस कूलिंग पैड को मोबाइल कवर में फिट किया जा सकता है। इसलिए मोबाइल की अतिरिक्त एसेसरी साथ रखने की ज़रूरत नहीं रहती।

Shoolini University भारत के सबसे तेजी से आगे बढ़ते निजी विश्वविद्यालयों में से एक है। इसे 2009 में इसके वाइस चांसलर Prem Kumar Khosla द्वारा स्थापित किया गया। इस वर्ष विश्वविद्यालय को नेशनल इंस्टीट्‌यूशन रैंकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) भारत सरकार द्वारा 100-150 के वर्ग में स्थान दिया गया है।

2022 तक शीर्ष 200 वैश्विक विश्वविद्यालयों में शामिल होना इस विश्वविद्यालय का लक्ष्य है। अपने क्षेत्र में इसने शोध, प्रौद्योगिकी, और इंजीनियरिंग में सबसे ज्यादा पेटेन्ट (58 पेटेन्ट) दाखिल किए हैं।

Shoolini University के बारे में 

Shoolini University of Biotechnology and Management Sciences ग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट शिक्षा के सभी पहलुओं में उत्कृष्टता लाने, उपयुक्त ज्ञान और कौशल का प्रसार करने, तथा आधुनिक विश्व की चुनौतियों के समाधान हेतु स्वतंत्र सोच को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है।

इस अलाभकारी बहु-वैषयिक निजी विश्वविद्यालय का ध्येय अगले दस वर्षों में शीर्ष 200 विश्वविद्यालयों में अपनी जगह बनाना है। इसके अलावा यह अपने विद्यार्थियों को किफायती और सब्सिडी आधारित फीस व्यवस्था के अंतर्गत गुणवत्तापरक तथा प्रासंगिक शिक्षा प्रदान करता है। अधिक विवरणों के लिए देखें: http://www.shooliniuniversity.com या निम्न पर अनुसरण करें:

यूट्यूब: https://www.youtube.com/channel/UCvgla2hF5DKUyxjjnsrIc4g

फेसबुक: https://www.facebook.com/ShooliniUniversityOfficial

ट्विटर: https://twitter.com/ShooliniUniv

इंस्टाग्राम: https://www.instagram.com/shooliniuniversity/

मीडिया संपर्क:
Suchet Attri
Assistant Director Public Relations
Foundation for Life Science & Business Management
suchetattri@shooliniuniversity.com
+91-9218301040

SOURCE Shoolini University



Journalists and Bloggers

Visit PR Newswire for Journalists for releases, photos and customised feeds just for media.

View and download archived video content distributed by MultiVu on The Digital Center.

 

Get content for your website

Enhance your website's or blog's content with PR Newswire's customised real-time news feeds.
Start today.

 

 
 

Contact PR Newswire

Send us an email at indiasales@prnewswire.co.in or call us at +91 22 6169 6000

 

 
 

Become a PR Newswire client

Request more information about PR Newswire products & services or call us at +91 22 6169 6000

 

 
  1. Products & Services
  2. Knowledge Centre
  3. Browse News Releases
  4. Contact PR Newswire