फार्मा के क्षेत्र में भारत की पहले से उन्नत स्थिति में एक नया अध्याय जोड़ने के लिए विशिष्ट उद्योग नेतृत्वकर्ताओं की खास चर्चा और सिफारिशें

मुंबई, December 1, 2017 /PRNewswire/ --

- यह एक्सक्लूसिव, क्लोज-डोर सीईओ राउंड टेबल मनाए गए India Pharma Week के बैनर तले नेतृत्व एक की धारा से संबंधित है।

- इसके दूसरे संस्करण में, राउंड टेबल कुलीन विचारक नेतृत्वकर्ताओं की सिफारिशों में से चुनाव करेगा, जिसके परिणामस्वरूप श्वेत पत्र की रिपोर्ट को नीति निर्माताओं और राष्ट्र के पॉवर कॉरिडोर के सामने प्रस्तुत किया जाएगा।

यूबीएम इंडिया की पहल के रूप में मनाए जाने वाले India Pharma Week का दूसरा संस्करण - CPhI & P-MEC, UBM के फ्लैगशिप एंगेजमेंट प्लेटफॉर्म और दुनिया की अग्रणी फार्मास्युटिकल नेटवर्किंग इवेंट के एक दशक का जश्न मनाने के लिए पिछले साल शुरू हुआ - इसके सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रमों में है, सीईओ राउंड टेबल।

     (Photo: http://mma.prnewswire.com/media/613238/CEO_Round_Table.jpg )
     (Logo: http://mma.prnewswire.com/media/471349/UBM_Logo.jpg )

इस एक्सक्लूसिव, क्लोज-डोर सीईओ राउंड टेबल में भारत के सबसे प्रभावशाली सीईओ, अग्रणी फार्मास्युटिकल कंपनियों के अध्यक्ष और संस्थापक, और फार्मास्युटिकल एसोसिएशन के नीति निर्माताओं और वरिष्ठ प्रतिनिधि जो मेक इन इंडिया के महत्वपूर्ण कार्यक्रम को लेकर एक-दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं, इसमें यह सुनिश्चित करने के लिए शामिल हुए कि - भारत के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सस्ती स्वास्थ्य देखभाल पर विशेष ध्यान देने में भारत को सर्वोपरि बनाना है।

सीईओ राउंड टेबल के मौके पर बोलते हुए, UBM India के प्रबंध निदेशक Mr. Yogesh Mudras ने कहा, "दुनिया के फार्मेसी हब के रूप में मशहूर, भारत की फार्मा अर्थव्यवस्था,  17.6 CAGR के साथ तेज़ी से विकास कर रही है। जैसा कि हम सब इस विशिष्ट जानकारी को आपस में साझा करने के सत्र में एकत्रित हुए हैं, हम सब भारतीय फार्मा उद्योग को इसके विकास की दिशा में एक बहुत ही महत्वपूर्ण दौर में देख रहे हैं। ऐसे समय जबकि उत्पादित दवाओं के मामले में भारत के शीर्ष चार फार्मास्यूटिकल बाज़ारों में शीर्ष पर रहा है, कुछ चुनौतियां भारत के फार्मा उद्योग के आसपास बनी हुई हैं। भारत में समय-खाने वाली अनुमोदन प्रक्रिया, सस्ते एपीआई स्रोतों के लिए चीन पर निर्भरता, कम-सक्षम बुनियादी ढांचा, फंड के अभाव और अत्यधिक कुशल प्रतिभाओं की कमी शामिल हैं।"

"इस बीच, अमेरिका - जो कि भारतीय जेनेरिक्स का सबसे बड़ा निर्यातक है -- अब अपने ही घरेलू बाज़ार में विकल्पों की तलाश कर रहा है, इसलिए भारत के फार्मा की सर्वोच्चता सुनिश्चित करने का विषय- मैक इन इंडिया सबसे महत्वपूर्ण बना हुआ है। फार्मा सेक्टर में कारोबार को संचालित करने वाले मास्टर रणनीतिकारों ने इस अंतर के पीछे के कारणों और समाधानों पर चर्चा की। उन्होंने आगे कहा, "श्वेत पत्र रिपोर्ट के साथ सीईओ राउंड टेबल एक अत्यंत सक्रिय पहल है जो कि संबंधित नीति निर्माताओं के सामने प्रस्तुत किया जाएगा।

इस एक्सक्लूसिव मीटिंग का हिस्सा बनने वाले उद्योग के सर्वश्रेष्ठ पेशेवरों में- D G Shah, महासचिव Indian Pharmaceutical Alliance; Dinesh Dua, सीईओ और डायरेक्टर, Nector Lifesciences; S V Veeramani, चेयरमैन और प्रबंध निदेशक, Fourrts (India) Laboratories Pvt Ltd; Prashant Nagre, सीईओ, Fermenta Biotach; Ranga Iyer, पूर्व एमडी, Wyeth; Rajiv Gulati, Ranbaxy के पूर्व अध्यक्ष; Suresh Subramanium, वरिष्ठ वीपी और हेड, Branded Formulations,  दक्षिण एशिया; Ashok Bhattacharya, कार्यकारी निदेशक / कंट्री मैनेजर, Takeda Pharmaceuticals India Pvt Ltd; Prof. Pierre Pienaar, अध्यक्ष, WPO; Dev Prakash Yadava, प्रबंध निदेशक, Shardachem; Dr. G.M. Warke, संस्थापक और सीएमडी HiMedia Laboratories; A. Vaidheesh, एमडी, GSK; Ziva Abraham, सीईओ, Microrite Inc; Srinivas Lanka, उपाध्यक्ष Pharma and Bio Taskforce, Andhra Pradesh Economic Development Board; Kewal Handa, डायरेक्टर, Salus Lifesciences; B.G. Barve, संयुक्त प्रबंध निदेशक, Bluecross Laboratories Pvt Ltd; S M Mudda, ग्लोबल स्ट्रेट्जी निदेशक, Microlabs और UBM India के प्रबंध निदेशक के Mr Yogesh Mudras शामिल थे।

Kewal Handa, Dr. Dinesh Dua, Sriram Shrinivasan, S.M. Mudda और Yogesh Mudras की भागीदारी वाली एक प्रतिनिधि बॉडी ने अपने प्रस्तावों के प्रमुख बिंदुओं पर चर्चा के लिए मीडिया से बातचीत की।

इसकी सिफारिशों में ये शामिल थे, लेकिन नीचे दिए प्रमुख बिंदुओं तक ही सीमित नहीं थे:

  • देश से निर्यात को बेहतर करन के लिए भारत को स्वयं अपनी ताकत निर्मित करनी चाहिए
  • इस क्षेत्र में बेहतर गुणवत्ता के अनुपालन लाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को एक सक्रिय दृष्टिकोण विकसित करना चाहिए। उन्हें फंड और प्लेटफॉर्मों को बढ़ावा देना चाहिए, और डिलीवरी की व्यवस्था निजी क्षेत्र पर छोड़ देनी चाहिए।
  • गुणवत्ता के अनुपालन की दिशा में बॉटम-अप यानी नीचे से ऊपर की ओर वाले दृष्टिकोण के साथ एक व्यवहारिक प्राथमिकता होनी चाहिए। पालन और अनुपालन के बीच एक फर्क पैदा किया जाना चाहिए, जब वह ग्राउंड लेवल पर कार्यान्वित होने पर पूर्व इस पर ध्यान दिया जाना चाहिए।
  • फार्मा सेक्टर में टेक्नोलॉजी की पहुंच के साथ-साथ भौगोलिक और विभिन्न सामाजिक-आर्थिक स्तरों पर स्वास्थ्य सेवाओं तक गुणवत्ता के आसानी से पहुंच होनी चाहिए और इसे भरपूर महत्व मिलना चाहिए। टेक्नोलॉजी समय और यात्रा जैसे कारकों को बचाने में मदद करती है और महत्व के साथ समय पर स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंच बनाना आसान बनाती है।
  • भारत में अर्थव्यवस्था में विकास की गति के SMEs प्रमुख संचालकों में से एक हैं। उपभोक्ता को दवाइयों की पहुंच बढ़ाने के लिए SME क्षेत्र को गुणवत्ता जांच और वितरण की आवश्यकताओं का अनुपालन करने की क्षमता के साथ अच्छी तरह से विकसित किया जाना चाहिए
  • भारतीय फार्मा अनुसंधान संस्थानों और विश्वविद्यालय के रूप में शिक्षा के साथ सहयोग बढ़ाना महत्वपूर्ण है। उद्योग, सरकार और शैक्षिक संस्थानों के बीच एक आंतरिक संबंध भी सबसे ज़्यादा अनुशंसित है

UBM India के बारे में   

UBM India, भारत में अग्रणी एग्जिबिशन ऑर्गनाइज़र (प्रदर्शनी आयोजनकर्ता) है जो उद्योग जगत को ऐसे प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराती है जो प्रदर्शनियों, विषयवस्तु आधारित सम्मेलनों और सेमिनारों के पोर्टफोलियो के माध्यम से दुनिया भर के खरीदारों व विक्रेताओं को एक मंच पर लाते हैं। UBM India पूरे देश में हर साल बड़े पैमाने की 25 से अधिक प्रदर्शनियां और 40 कॉन्फ्रेन्स आयोजित करते हुए; उद्योग जगत के विविध क्षेत्रों के बीच व्यापार को बढ़ावा देती है। UBM Asia कंपनी UBM India के कार्यालय मुम्बई, नई दिल्ली, बंगलौर और चेन्नई में स्थित हैं। UBM Asia का स्वामित्व UBM plc के पास है जो लंदन स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्ध है। UBM Asia, एशिया में अग्रणी प्रदर्शनी आयोजनकर्ता है और मुख्यभूमि चीन, भारत व मलेशिया में सबसे बड़ी वाणिज्यिक आयोजक है। अधिक विवरणों के लिए कृपया http://www.ubmindia.in पर पधारें।

UBM Plc के बारे में:   

UBM plc दुनिया की सबसे बड़ी प्योर-प्ले B2B इवेंट्‌स ऑर्गनाइज़र कंपनी है। बढ़ते डिजिटल प्रचलन वाली दुनिया में सार्थक मानवीय संपर्क अभूतपूर्व महत्त्वपूर्ण बन गया है। औद्योगिक क्षेत्रों के बारे में हमारे गहन ज्ञान और प्रेरणाओं के साथ UBM के माध्यम से हम ऐसे मूल्यवान अनुभव सृजित करने के लिए तत्पर रहते हैं जहां लोग सफलता प्राप्त कर सकें। हमारे कार्यक्रमों के माध्यम से लोग रिश्ते विकसित करते, सौदे संपन्न करते और अपने कारोबार बढ़ाते हैं। 20 से अधिक देशों में हमारे 3,750 से अधिक कर्मचारी फैशन से लेकर फार्मास्यूटिकल इन्ग्रेडिएंट्‌स तक 50 विभिन्न सेक्टरों में अपनी सेवाएं देते हैं। ये विश्वस्तरीय नेटवर्क, कुशल, प्रेरित लोग और बाज़ार-अग्रणी आयोजन, कारोबारियों को उनकी महत्त्वाकांक्षाएं पूरी करने के लिए शानदार अवसर उपलब्ध कराते हैं।

अधिक जानकारी के लिए http://www.ubm.com पर जाएं; UBM कॉर्पोरेट समाचारों के लिए, हमें Twitter पर @UBM ,UBM Plc LinkedIn पर अनुसरण करें।

मीडिया संपर्क: 
Roshni Mitra
roshni.mitra@ubm.com
+91-22-61727000
UBM India Pvt Ltd.

SOURCE UBM India Pvt. Ltd.



 

Get content for your website

Enhance your website's or blog's content with PR Newswire's customised real-time news feeds.
Start today.

 

 
 

Contact PR Newswire

Send us an email at indiasales@prnewswire.co.in or call us at +91 22 6169 6000

 

 
 

Become a PR Newswire client

Request more information about PR Newswire products & services or call us at +91 22 6169 6000

 

 
  1. Products & Services
  2. Knowledge Centre
  3. Browse News Releases
  4. Contact PR Newswire