QS यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स: BRICS 2018 - Jindal Global University ने वैश्विक रैंकिंग में अपना अहम मुकाम बनाया

नई दिल्ली, December 4, 2017 /PRNewswire/ --

- भारत में शीर्ष 10 सार्वजनिक और शीर्ष 10 निजी उच्चतर शिक्षा संस्थानों में शामिल

- इन रैंकिंग्स में स्थान पाने वाली सबसे नई भारतीय यूनिवर्सिटी और हरियाणा की एकमात्र प्राइवेट यूनिवर्सिटी

- BRICS क्षेत्र में 9,000 यूनिवर्सिटी में से शीर्ष 300 यूनिवर्सिटी में शामिल

अंतरवैषयिक O.P. Jindal Global University (JGU) को QS यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स: BRICS 2018 संस्करण द्वारा भारत में शीर्ष 10 सार्वजनिक और शीर्ष 10 निजी उच्चतर शिक्षा संस्थानों में शामिल किया गया है। JGU इन अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग्स में स्थान पाने वाली सबसे नई भारतीय यूनिवर्सिटी और हरियाणा की एकमात्र प्राइवेट यूनिवर्सिटी बन गई है।

JGU को BRICS क्षेत्र में (इसमें पांच देश शामिल हैं: ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) 9,000 यूनिवर्सिटी में से 251-300 वर्ग में रखा गया है जिससे यह इस क्षेत्र में शीर्ष 2.8% यूनिवर्सिटीज में से एक बन गई है।

अकादमिक प्रतिष्ठा, नियोक्ता की प्रतिष्ठा, PhD के साथ स्टाफ का अनुपात, फैकल्टी/छात्र अनुपात, शोध प्रकाशन और उद्धरण दरों, और अंतरराष्ट्रीय फैकल्टी तथा छात्र अनुपात के आठ प्रदर्शन मानकों के आधार पर यह रैंकिंग, इन पांच तेज़ी से विकसित होती अर्थव्यवस्था वाले देशों में अग्रणी संस्थानों की आपेक्षिक सुदृढ़ताओं और कमजोरियों के बारे में जानकारी देती है।

इस उपलब्धि के बारे में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए JGU के संस्थापक चांसलर, Mr. Naveen Jindal ने कहा कि, "QS की प्रतिष्ठित रैंकिंग में शामिल होना न केवल JGU के लिए, बल्कि पूरे हरियाणा के लिए गर्वभरी उपलब्धि का विषय है। अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में भारतीय यूनिवर्सिटीज के आने से न केवल रैंकप्राप्त उच्चतर शिक्षा संस्थानों के लिए नए अवसर उत्पन्न हुए हैं, बल्कि भारतीय उच्चतर शिक्षा में उत्कृष्टता के मॉडल भी स्थापित करने की संभावनाएं विकसित हुई हैं। भारत के जनांकिक स्वरूप और देश की विकासशील स्थिति को देखते हुए, भारत में शिक्षा के क्षेत्र में अधिक CSR निवेशों और मानवतावादी दानों की आवश्यकता है। यह भारत में उच्चतर शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। भारतीय उच्चतर शिक्षा संस्थानों को अग्रणी वैश्विक यूनिवर्सिटीज के अनुभवों से सीखना होगा। वैश्विक उत्कृष्टता वाले ऐसे संस्थान खड़े करने के लिए सहमति और उद्‌देश्यपूर्ण भावना पर आधारित सजग आवश्यकता है जो अंतरराष्ट्रीय संस्थानों से स्पर्धा कर सकें। Jindal Group इसी विज़न से तथा अपने संस्थापक Shri O.P. Jindal की दूरदर्शिता से प्रेरित है जो CSR और अन्य सामाजिक पहलों के माध्यम से कॉर्पोरेट मानवतावाद को बढ़ावा देने के लिए गहराई से प्रतिबद्ध है। राष्ट्र निर्माण में CSR किस तरह योगदान कर सकता है, JGU इसका एक असाधारण उदाहरण है।"

इस उपलब्धि, और वैश्विक उच्चतर शिक्षा के प्रति JGU की प्रतिबद्धता के विषय में बात करते हुए प्रो. (Dr.) C. Raj Kumar, संस्थापक वाइस चांसलर, JGU, ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि, "एक अपेक्षाकृत नई यूनिवर्सिटी के लिए यह असाधारण उपलब्धि है, जिसने अपनी स्थापना के बाद से अभी तक महज आठ साल का समय पूरा किया है। हमने अंतरराष्ट्रीय सहयोग समझौतों की सबसे व्यापक संभव रूपरेखा के लिए प्रयास करके उसके विकास में सफलता प्राप्त की जिससे विश्व के 50 से अधिक देशों में स्थित 200 से अधिक यूनिवर्सिटी और उच्चतर शिक्षा संस्थानों से JGU की साझेदारी और उनके साथ मिलकर कार्य करना संभव हुआ।"

उन्होंने आगे बताया कि, "वैश्विक उत्कृष्टता के संस्थान के रूप में JGU की वृद्धि और विकास, स्कूलों और प्रोग्रामों के विस्तार के भी अनुरूप रहा है। JGU एक अंतरवैषयिक यूनिवर्सिटी है जो ऐसा पाठ्‌यक्रम पेश करती है जिससे छात्रों को कक्षाओं में गहन शिक्षण, प्रभावी क्लीनिकल प्रोग्रामों, प्रायोगिक शिक्षण, और शोध तथा लेखन कार्य आदि के माध्यम से सीखने के विविध अवसर प्राप्त होते हैं।"

उन्होंने आगे बताया कि, "हमारी संस्थागत प्रतिबद्धता और वैश्विक प्रेरणाएं, इस तथ्य से स्पष्ट हैं कि हमारी 20% से अधिक फैकल्टी, 20 विभिन्न देशों से चुने गए अभारतीय विद्वानों की है जो उत्कृष्टता में योगदान करने के मिशन से प्रेरित होकर नवप्रवर्तक शिक्षण विधि और शोध प्रेरित विधियों में लगे हैं।"

उन्होंने कहा कि "भारतीय यूनिवर्सिटीज का भविष्य इस पर निर्भर है कि हम वैश्विक उत्कृष्टता के संस्थानों के विकास हेतु प्रोत्साहन देने के साथ-साथ बड़ी संख्या में युवाओं को उच्चकोटि की शिक्षा प्रदान करने की चुनौती का समाधान किस प्रकार करते हैं।"

वाइस चांसलर ने भारत में ऐसी विश्वस्तरीय निजी यूनिवर्सिटीज स्थापित करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया जो विश्व में शीर्ष रैंकिंग प्राप्त करें और शिक्षण, शोध और क्षमता-सृजन में उत्कृष्टता के लिए प्रतिष्ठित हों। उन्होंने कहा कि "उच्चतर शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने की सोच के साथ JGU की स्थापना एक अलाभकारी संस्थान के रूप में की गई है और हमारे प्रयासों को विश्वस्तर पर मान्यता मिलते देखना बहुत संतुष्टि देने वाला है।"

QS यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स: BRICS 2018 ऐसे समय जारी हुई है जब भारत में विश्वस्तरीय यूनिवर्सिटीज विकसित करने के सरकारी प्रयासों के अंतर्गत भारत सरकार, 'उच्चस्तरीय संस्थानों' के रूप में मनोनयन हेतु देश में पात्र उच्चतर शिक्षा संस्थानों से आवेदन आमंत्रित कर रही है।

QS यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स BRICS 2018 संस्करण का उद्‌घाटन नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में प्रोफेसर (Dr.) V.S. Chauhan, चेयरमैन, University Grants Commission (UGC) द्वारा किया गया। इस अवसर पर बोलते हुए Dr Chauhan ने कहा कि, "भारतीय शिक्षा का प्रसार हो रहा है और हम ऐसे कई विनियम परिवर्तित करने का प्रयास कर रहे हैं जो काफी समय पहले बनाए गए थे। इस प्रणाली में रैंकिंग्स का भी प्रावधान किया गया है और सरकार भी यह समझ रही है कि इन रैंकिंग्स में भारतीय यूनिवर्सिटीज की मौजूदगी, देश के लिए प्रतिष्ठा की बात है। हालांकि देश अपनी यूनिवर्सिटीज के इस स्तर की परिपक्वता के मामले में अभी एकदम शुरुआती दौर में है। हम उस दिन अत्यधिक प्रसन्न होंगे जब BRICS की रैंकिंग में 350 यूनिवर्सिटीज में से 150 भारतीय संस्थाएं होंगी।"

Mr. Ashwin Fernandes, रीजनल डायरेक्टर - मिडिल ईस्ट, नार्थ अफ्रीका और भारत, QS इंटेलिजेंस यूनिट, ने उपस्थित लोगों को रैंकिंग सिस्टम से परिचित कराया। इसके बाद अपनी टिप्पणी में उन्होंने कहा कि "QS यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स: BRICS दुनिया के कुछ तीव्रतम गति से विकसित होती अर्थव्यवस्था वाले देशों में उच्चतर शिक्षा की स्थिति के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी प्रदान करती है। शिक्षा संस्थानों की गुणवत्ता के बारे में वर्तमान और भावी छात्रों, अभिभावकों, नियोक्ताओं और सरकार की राय को आकार देने के मामले में रैंकिंग बड़ी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह उच्चतर शिक्षा संस्थानों में उत्कृष्टता के प्रति ललक भी उत्पन्न करती है।"

O.P. Jindal Global University (JGU) के बारे में       

JGU, हरियाणा निजी विश्वविद्यालय (द्वितीय संशोधन) अधिनियम, 2009 के तहत स्थापित एक अलाभकारी ग्लोबल यूनिवर्सिटी है। JGU को Mr. O.P. Jindal की स्मृति में एक मानवतावादी प्रयास के रूप में Mr. Naveen Jindal, संस्थापक चांसलर द्वारा स्थापित किया गया। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने O.P. Jindal Global University को मान्यता प्रदान की है। वैश्विक कोर्स, वैश्विक प्रोग्राम, वैश्विक पाठ्‌यक्रम, वैश्विक शोध, वैश्विक सहयोग, और वैश्विक मेलजोल को वैश्विक फैकल्टी के माध्यम से बढ़ावा देना JGU का विजन है। JGU राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में 80 एकड़ के अत्याधुनिक आवासीय परिसर में स्थित है। JGU एशिया के ऐसे चुनिंदा विश्वविद्यालयों में शामिल है जिन्होंने 1:15 फैकल्टी-छात्र अनुपात बनाया हुआ है और विश्व के विभिन्न भागों से असाधारण अकादमिक योग्यता और अनुभव वाले फैकल्टी सदस्यों को नियुक्त किया है। JGU ने 5 स्कूल स्थापित किए हैं: Jindal Global Law School, Jindal Global Business School, Jindal School of International Affairs, Jindal School of Government and Public Policy and Jindal School of Liberal Arts and Humanities.

अधिक जानकारी के लिए कृपया देखें: http://www.jgu.edu.in/

मीडिया संपर्क:
Ms Kakul Rizvi
krizvi@jgu.edu.in
+91-8396907273
Additional Director
Communications and Public Affairs
O.P. Jindal Global University

SOURCE O.P. Jindal Global University



Journalists and Bloggers

Visit PR Newswire for Journalists for releases, photos and customised feeds just for media.

View and download archived video content distributed by MultiVu on The Digital Center.

 

Get content for your website

Enhance your website's or blog's content with PR Newswire's customised real-time news feeds.
Start today.

 

 
 

Contact PR Newswire

Send us an email at indiasales@prnewswire.co.in or call us at +91 22 6169 6000

 

 
 

Become a PR Newswire client

Request more information about PR Newswire products & services or call us at +91 22 6169 6000

 

 
  1. Products & Services
  2. Knowledge Centre
  3. Browse News Releases
  4. Contact PR Newswire