किशोर वैज्ञानिक प्रोत्‍साहन योजना (चरण-1) का परिणाम - रेजोनेंस के 455 विद्यार्थी हुये दूसरे चरण के लिये उत्‍तीर्ण

कोटा, भारत, December 28, 2017 /PRNewswire/ --

संस्‍थान के परचम को ऊँचा लहराते हुये रेजोनेंस के 455 विद्यार्थी किशोर वैज्ञानिक प्रोत्‍साहन योजना (KVPY) के पहले चरण में चुन लिये गये हैं। किशोर वैज्ञानिक प्रोत्‍साहन योजना वर्ष 1999 में केंद्रीय सरकार द्वारा शुरु की गई एक फेलोशिप है, जो प्रतिभावान छात्रों को सैद्धांतिक विज्ञान (प्‍योर साइंस) पाठ्यक्रम पढ़ने और विज्ञान में शोध के क्षेत्र में करिअॅर बनाने हेतु आकर्षित करने के लिये लॉंच की गई है।

     (Logo: http://photos.prnewswire.com/prnh/20170131/463110LOGO )

     (Photo: http://mma.prnewswire.com/media/623199/Resonance_KVPY_2017_Stage_1_Results.jpg )

रेजोनेंस के संस्‍थापक तथा प्रबंधक निदेशक, आरे.के. वर्मा ने बताया, कि पहले चरण में उत्‍तीर्ण हुये 455 विद्यार्थियों में से 184 नियमित क्‍लासरूम विद्यार्थी हैं और 271 रॅज़ोनेंस के दूरस्‍थ शिक्षा कार्यक्रम के छात्र हैं। इन्‍होंने यह भी कहा कि सभी उत्‍तीर्ण हुये छात्रों में से 274 SX श्रेणी (12वीं कक्षा के विज्ञान के छात्र) के हैं, 176 SA श्रेणी (11वीं कक्षा के विज्ञान गणित के छात्र) से हैं और 5 छात्र SB श्रेणी (11वीं कक्षा के विज्ञान जीवविज्ञान के छात्र) से हैं। 184 नियमित क्‍लासरूम छात्रों में से 97 कोटा अध्‍ययन केंद्र से हैं, जो कि पूरे क्षेत्र के लिये एक गौरवपूर्ण उपलब्धि है; 32 छात्र बेंगलोर स्थित बेस अध्‍ययन केंद्र से हैं; 15 उदयपुर अध्‍ययन केंद्र के; 7 सूरत अध्‍ययन केंद्र के; 5-5 मुम्‍बई तथा जोधपुर से; 4 अहमदाबाद अध्‍ययन केंद्र से; 3-3 जयपुर तथा आगरा अध्‍ययन केंद्र से; 2-2 नागपुर, नासिक तथा राजकोट अध्‍ययन केंद्र से और 1-1 भोपाल, चन्‍द्रपुर, भुवनेश्‍वर, ग्‍वालियर, इंदौर, रायपुर तथा वडेादरा अध्‍ययन केंद्र से हैं। प्रबंधक निदेशक, आरे.के. वर्मा ने यह भी कहा, कि संस्‍थान ने हमेशा ही IIT-JEE, NEET, Olympiads, KVPY तथा अन्‍य राष्‍ट्रीय प्रतिस्‍पर्धी परीक्षाओं में हासिल सफलताओं के रूप में इन प्रतिभाओं को विकसित तथा प्रदर्शित कर, एक प्रमुख भूमिका अदा की है।

रेजोनेंस के छात्र देश की कुछ ऐसी सर्वाधिक चुनौतीपूर्ण परीक्षाओं में शानदार प्रदर्शन करते रहे हैं, जिनमें संकल्‍पनाओं की बेहद गूढ़ समझ की आवश्‍यकता होती है। किशोर वैज्ञानिक प्रोत्‍साहन योजना  (KVPY) 11वीं तथा 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिये है। इसमें भाग लेने के लिये सामान्‍य श्रेणी के छात्रों को 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं में न्‍यूनतम 80 प्रतिशत अंकों की आवश्‍यकता होती है और अनुसूचित जाति, जनजाति तथा अन्‍य पिछड़ी जातियों के छात्रों को इस परीक्षा में भाग लेने के लिये 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं में कम से कम 70 प्रतिशत अंक लाने होते हैं।

इस योजना का उद्धेश्‍य शोध करने की प्रतिभा तथा योग्‍यता रखने वाले छात्रों की पहचान करना; उन्‍हें उनकी शैक्षिक क्षमता का अहसास कराने में मदद करना; उन्‍हें विज्ञान में शोध के क्षेत्र में करिअॅर चुनने हेतु प्रोत्‍साहित करना और देश में अनुसंधान तथा विकास के लिये सर्वश्रेष्‍ठ वैज्ञानिक मस्तिष्‍कों की संवृद्धि सुनिश्चित करना है। यह एक सराहनीय कार्यक्रम है,

रेजोनेंस सभी उत्‍तीर्ण छात्रों को KVPY के दूसरे चरण के लिये शुभकामनायें देता है।

KVPY में रेजोनेंस की पिछली उपलब्धियों को देखने के लिये यहॉं क्लिक करें: https://www.resonance.ac.in/reso/results/results-kvpy.aspx

रेजोनेंस के विषय में 

रेजोनेंस एडुवेंचर्स लिमिटेड की स्थापना 11 अप्रैल, 2001 को कोटा में हुई थी। शिक्षकों के स्तर के अनुरूप शिक्षण संवर्धन हेतु प्रतिबद्धता के साथ इस संस्थान को रेजोनेंस नाम दिया गया ताकि अनुनाद (रेजोनेंस) एक वास्तविकता बन सके। अपनी स्थापना से ही संस्थान ने परिणामों की मात्रा और गुणवत्ता के मामलों में सभी अपेक्षाओं से बढ़कर परिणाम दिए हैं। कक्षाओं में नामांकन कराने वाले छात्रों की संख्या और आईआईटी-जेईई में चुने जाने वाले छात्रों की संख्या देश में किसी भी अन्य संस्थान की तुलना में बेजोड़ रूप से अधिक रही है जो आईआईटी-जेईई की क्लासरूम कोचिंग देते हैं। कोटा, आगरा, अहमदाबाद, इलाहाबाद, औरंगाबाद, भोपाल, भुवनेश्वर, चंद्रपुर, दिल्ली, ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर, जयपुर, जोधपुर, कोलकाता, लखनऊ, मुम्बई, नागपुर, नांदेड, नाशिक, पटना, रायपुर, राजकोट, रांची, सूरत, उदयपुर और वडोदरा में संस्थान के अपने अध्ययन केंद्र हैं जहां आईआईटी-जेईई के क्लासरूम प्रोग्राम चलाए जाते हैं। संस्थान अपने चुनिंदा अध्ययन केंद्रों के माध्यम से एआईपीएमटी/एम्स और CA/CS आदि के लिए भी क्लासरूम कोर्स संचालित करता है और अपनी डीएलपी डिवीजन के माध्यम से दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम चलाता है जो उन छात्रों की ज़रूरतें पूरी करते हैं जो किसी कारण से शिक्षा प्राप्त करने के लिए बाहर नहीं जा सकते। रेजोनेंस अपनी पीसीसीपी डिवीजन के माध्यम से कक्षा 5 से 10 तक के छात्रों को भी कोचिंग प्रदान करता है और प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं जैसे कि NTSE, Olympiads आदि के लिए छात्रों की तैयारी कराता है।

अधिक जानकारी और पूछताछ के लिए कृपया देखें: https://www.resonance.ac.in

रेजोनेंस में प्रवेश के लिए विद्यार्थी 7 जनवरी, 2018 को छात्रवृत्ति-सह-प्रवेश परीक्षा रेज़ोफास्‍ट (ResoFAST) में भाग लेकर JEE एडवांस्ड, JEE मेन ,NEET तथा AIIMS के लिए विभिन्‍न क्लासरूम कार्यक्रमों में 90% तक की छात्रवृत्ति के साथ प्रवेश पा सकते हैं।

अधिक जानकारी के लिए कृपया https://www.resonance.ac.in देखें।

मीडिया संपर्क:
शिवराज सिंह
shivraj.singh@resonance.ac.in
+91-9314150513
जनरल मैनेजर
रेजोनेंस एडुवेंचर्स लिमिटेड

SOURCE Resonance Eduventures Limted



 

Get content for your website

Enhance your website's or blog's content with PR Newswire's customised real-time news feeds.
Start today.

 

 
 

Contact PR Newswire

Send us an email at indiasales@prnewswire.co.in or call us at +91 22 6169 6000

 

 
 

Become a PR Newswire client

Request more information about PR Newswire products & services or call us at +91 22 6169 6000

 

 
  1. Products & Services
  2. Knowledge Centre
  3. Browse News Releases
  4. Contact PR Newswire